WMTLC हिंदी बूस्टर्स

दैनिक अध्ययन

विफल होना अन्त नहीं है !

images

June 20, 2017 [बाइबल पाठ: यूहन्ना 18:15-27]

द्वितीय विश्व-युद्ध के समय में ब्रिटेन के प्रधान-मंत्री विंस्टन चर्चिल को पता था कि युद्ध के दिनों की परेशानियों में अपने देश के लोगों को कैसे उभारा जाए। जून 18, 1940 को दिए गए अपने एक भाषण में उन्होंने कहा, “हिटलर जानता है कि उसे या तो हमें तोड़ना पड़ेगा…या फिर वह युद्ध हार जाएगा…इसलिए आईए हम अपने आप को दृढ़ करें…और ऐसे व्यवहार करें, कि यदि ब्रिटिश साम्राज्य एक हज़ार वर्ष तक भी बना रहे तो भी लोग कहें कि ’वह उनकी सर्वोत्तम घड़ी थी!’ “

हम सभी चाहते हैं कि हम अपने सर्वोत्तम पल के लिए स्मरण किए जाएं; परन्तु कभी ऐसा भी होता है कि हम अपनी विफलताओं को अपने बारे में बताने देते हैं। संभवतः प्रेरित पतरस के लिए सर्वोत्तम पल वह था जब उसने प्रभु यीशु मसीह के विषय कहा था, “शमौन पतरस ने उत्तर दिया, कि तू जीवते परमेश्वर का पुत्र मसीह है” (मत्ती 16:16)परन्तु यही पतरस, कुछ ही समय पश्चात अपने सभी दावों के बावजूद, प्रभु यीशु मसीह को अकेला छोड़कर अपनी जान बचा कर भाग गया और फिर तीन बार प्रभु को जानने से भी इनकार किया। बाद में पतरस फूट-फूट कर रोया और उसने अपनी इस कायरता के लिए पश्चताप किया (मत्ती 26:75; यूहन्ना 18)

पतरस के समान ही हम सभी कभी कभी आवश्यकता के समय पूरे नहीं पाए जाते हैं, विफल हो जाते हैं –  अपने संबंधों में, पाप से अपनी लड़ाई में, परमेश्वर के प्रति अपनी विश्वासयोग्यता में। विंस्टन चर्चिल ने एक बात और कही थी, “विफलता घातक नहीं होती।” परमेश्वर का धन्यवाद हो कि यह बात हमारे आत्मिक जीवन में भी लागू होती है, आत्मिक जीवन के लिए भी सत्य है। परमेश्वर के वचन बाइबल में हम आगे पढ़ते हैं कि पश्चतापी पतरस को प्रभु यीशु ने केवल उसकी विफलताओं के लिए क्षमा किया, वरन उसे नई ज़िम्मेदारियाँ भी दीं (यूहन्ना 21), और आगे चलकर पतरस को प्रभावी प्रचारक तथा हज़ारों को प्रभु के पास लाने वाला भी बनाया (प्रेरितों 2)

विफल होना अन्त नहीं है। यदि हम सच्चे पश्चताप के साथ परमेश्वर की ओर मुड़ते हैं, परमेश्वर हमें फिर से अपने लिए उपयोगी और अपनी महिमा का पात्र बना सकता है।

जब परमेश्वर क्षमा करता है, तब वह पाप को हटा देता है और आत्मा को चंगा कर देता है।

यदि हम कहें, कि हम में कुछ भी पाप नहीं, तो अपने आप को धोखा देते हैं: और हम में सत्य नहीं। यदि हम अपने पापों को मान लें, तो वह हमारे पापों को क्षमा करने, और हमें सब अधर्म से शुद्ध करने में विश्वासयोग्य और धर्मी है। – 1 यूहन्ना 1:8-9

बाइबल पाठ: यूहन्ना 18:15-27

John 18:15 शमौन पतरस और एक और चेला भी यीशु के पीछे हो लिये: यह चेला महायाजक का जाना पहचाना था और यीशु के साथ महायाजक के आंगन में गया।

John 18:16 परन्तु पतरस बाहर द्वार पर खड़ा रहा, तब वह दूसरा चेला जो महायाजक का जाना पहचाना था, बाहर निकला, और द्वारपालिन से कहकर, पतरस को भीतर ले आया।

John 18:17 उस दासी ने जो द्वारपालिन थी, पतरस से कहा, क्या तू भी इस मनुष्य के चेलों में से है? उसने कहा, मैं नहीं हूं।

John 18:18 दास और प्यादे जाड़े के कारण को एले धधकाकर खड़े ताप रहे थे और पतरस भी उन के साथ खड़ा ताप रहा था।

John 18:19 तक महायाजक ने यीशु से उसके चेलों के विषय में और उसके उपदेश के विषय में पूछा।

John 18:20 यीशु ने उसको उत्तर दिया, कि मैं ने जगत से खोल कर बातें की; मैं ने सभाओं और आराधनालय में जहां सब यहूदी इकट्ठे हुआ करते हैं सदा उपदेश किया और गुप्‍में कुछ भी नहीं कहा।

John 18:21 तू मुझ से क्यों पूछता है? सुनने वालों से पूछ: कि मैं ने उन से क्या कहा? देख वे जानते हैं; कि मैं ने क्या क्या कहा

John 18:22 तब उसने यह कहा, तो प्यादों में से एक ने जो पास खड़ा था, यीशु को थप्पड़ मारकर कहा, क्या तू महायाजक को इस प्रकार उत्तर देता है।

John 18:23 यीशु ने उसे उत्तर दिया, यदि मैं ने बुरा कहा, तो उस बुराई पर गवाही दे; परन्तु यदि भला कहा, तो मुझे क्यों मारता है?

John 18:24 हन्ना ने उसे बन्‍धे हुए काइफा महायाजक के पास भेज दिया।

John 18:25 शमौन पतरस खड़ा हुआ ताप रहा था। तब उन्होंने उस से कहा; क्या तू भी उसके चेलों में से है? उसने इन्कार कर के कहा, मैं नहीं हूं।

John 18:26 महायाजक के दासों में से एक जो उसके कुटुम्ब में से था, जिसका कान पतरस ने काट डाला था, बोला, क्या मैं ने तुझे उसके साथ बारी में देखा था?

John 18:27 पतरस फिर इन्कार कर गया और तुरन्त मुर्ग ने बांग दी।

अधिक शिक्षाओं और लेख के लिए हमारी वेबसाइट पर जाएँhttp://www.wmtlc.org

चुने गए बाइबिल पद :  बाइबल कुछ मुद्दों और विषयों के बारे में क्या कहती हैं, जाननाचाहते हैं तो नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें [ प्रत्येक विषय के लिए ऑडियो फ़ाइल भी सुन सकते है.]

 https://wordproject.org/bibles/verses/hindi/index.htm

Witness Ministries

Advertisements

2 comments on “विफल होना अन्त नहीं है !

  1. smita
    June 20, 2017

    Yes..nice revelation ps

    Liked by 1 person

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

Information

This entry was posted on June 20, 2017 by in Boosters and tagged , , , , , , .
Follow WMTLC हिंदी बूस्टर्स on WordPress.com

Archives

Blog Stats

  • 2,791 hits

Categories

%d bloggers like this: